निर्मल ध्यान केन्द्र

तलहटी में पूज्य आचार्य श्री निर्मल सागर जी के संप्रेणामय शुभाषीश से नवनिर्मित समवशरण मंदिर भी दर्शनीय है इसमें महामनोहर समावेशरण की रचना है एवं प्राचीन मूर्तियाँ स्थापित हैं । इसके अतिरिक्त यहाँ आधुनिकतम् धर्मशाला भी निर्मित है । पूज्य आचार्य श्री की प्रेरणा और आशीर्वाद से निर्मित गुरुकुल, ध्यान केन्द्र आदि ने गिरनार की शोभा में चार चाँद लगा दिये हैं । जूनागढ़ शहर में भी एक दिगम्बर जैन मन्दिर हैं |

और अधिक पढ़ें

नया अवसर

” 50वी
स्वर्णिम संयम
दीक्षा जयंती महोत्सव ”

गिरनार की महत्ता विदेशी यात्री की दृष्टि में

गुजरात के सौराष्ट्र संभाग में जूनागढ़ के पूर्व में लगभग 7 कि.मी. के फासले पर सुप्रसिद्ध जैन तीर्थक्षेत्र गिरनार पर्वत है । यह पर्वत 3666 फीट ऊँचा है । जिस समय आकाश स्वच्छ होता है, उस समय शत्रुंजय पर्वत या सिद्धाचल से भी इसके दर्शन होते हैं… और अधिक पढ़ें